संस्‍कृतजगत्

संस्‍कृत सहायता प्रकोष्‍ठ | SANSKRIT HELP FORUM

Bhim

संस्कृत श्लोक का अर्थ

केचन जनाः चूतमप्यस्मिन् दिने ‘धर्म’ इति आचरन्ति ।

का हिंदी अर्थ

समय : 02:35:56 | दिनाँक : 05/06/2020
उत्‍तर दें
बालकृष्णः

केचन जनाः चूतमप्यस्मिन् दिने ‘धर्म’ इति आचरन्ति ।
इसका सम्भावित अर्थ -
कुछ लोग दिन में इस आम (के पेड़ की छाया) में धर्म का आचरण करते हैं ।

X

प्रश्‍न पूँछें

X